किसी को फिकर ही नहीं है!!!

*अहसास ही नहीं हुआ! कभी किसी को मेरी बातें का किसी हाल मै हु अंदर क्या कुछ चल रहा है!

*कभी किसी को एहसास ही नहीं हुआ! अपनो से अच्छे गैर लगने लगे हैं!

*अपने अपने बनकर भी अंजान बन रहे हैं! और गैर अपने ना होते हुए भी अपने लगते हैं!

*किसी और से शिकवा ही क्यु करू! जब दिल का सबसे करीब रहने वाला ही इंसान अपना नही है!

*जिसे मेरे जीने मरने से कोई फर्क ही नही पड़ता किस हाल मै हु मै! कभी पूछता तक नही!

*दिल के हाथों मजबूर हु! उसके बिना रहा ही नहीं जाता! जब भी बात करता है! ऐसा लगता हैं मुझ पर कोई एहसान कर रहा है!

*जब उसे कोई फर्क ही नहीं पड़ता मुझसे और मेरी बातों से फिर भी दिल उसके बिना उदास रहता है!

*कुछ समझ ही नहीं आता क्या करू!

*ऐसा लगने लगा है इस पूरी दुनिया मै कोई मुझे समझने वाला ही नही है कोई मुझसे प्यार नही करता! सब की नाराजगी सह सकती हु! मगर उसकी नही! बताया था उसे तब्यत ठीक नही है बहुत ही बीमार हू कुछ दिनो से!

*मगर उसे कोई फर्क ही नही पड़ता!

*कभी कभी मन करता है उससे कभी भी बात ना करू! मगर आस पास फिर कुछ ऐसा हो जाता है! जिसे देखकर उसकी फिकर होनी लगती है!

*दिल और दिमाग से जाता ही नही है!

*सच ही कहा है किसी ने हमेशा कोई किसी के लिए खास नही रहता! वक्त के साथ इंसान और उसकी पसन्द बदल जाती है!

*मगर मेरे साथ पता नही कभी भी ऐसा कुछ क्यु नही होता क्यु मेरी पसन्द नही बदलती क्यु सारी उमर एक ही इंसान खास रहता है!

*आज तक वो मुझे और मेरे प्यार को समझा ही नही! आज तक कभी उसने ये नही बोला के मैं उसके लिए खास हु!

*रोज उसे अपनी याद दिलाती हु! के मै भी उसकी जिंदगी मै हु! मगर उसे तो कोई फर्क ही नहीं पड़ता!

*मगर अब कुछ सहा ही नहीं जाता! नही दिलानी किसी को भी अपनी याद!

*इतने लोग रोज मर रहे हैं! समझ ही नहीं आता मेरी मौत आखिर कहा छुपी बैठी है! क्यु नही आती वो मुझसे मिलने और अपने साथ क्यु नही ले कर चली जाती मुझे!

*उसके साथ जाना है! उसकी दुनिया मै हमेशा, हमेशा के लिए!

*नही रहना है इस दुनिया मै जहाँ कदम कदम पर धोका है! वक्त आने पर लोग छोडकर कर चले जाते हैं! चाहें कोई अपना हो या नही!

*वक्त आने पर सबसे करीब इंसान भी करीब नही रहता वो भी साथ छोड़कर चला जाता है

10 thoughts on “किसी को फिकर ही नहीं है!!!

  1. आज की दुनियाँ हम खुद फ़िक्र करना ही उचित है ,🌷किसी का निर्भर रहना ठीक नहीं !!
    क्योंकि सब अपनी ज़िन्दगी की ओर ही अधीन है 👌🙏🌷

  2. सच्चे प्यार की कोई कद्र नहीं करता
    लोग उनपर focus करते हैं जिन्हें वो पसंद करते हैं और उन्हें नजरंदाज करते हैं जो उन्हें पसंद करते हैं, हर किसी को अपना प्यार प्यार लगता है लेकिन दूसरे का प्यार बकवास, मेरे जैसे लोग सिर्फ ignore होने के लिए पैदा होते हैं हर किसी से

    1. Asa mat bola kro aap jitni logo ki soch he wo aap ke baare me utna hi sochte he koi ignore karta he to karne do hamari zindagi he naa ki kisi dusre ki itni si baat pr prasaan nahi hua kro

      1. Yr aap hi btao, jinki aap care karte ho, respect karte ho, jinhe aap aapna mante ho, jisse pyar karte ho, agar wo sab ignore kare to kaisa lgega aapko
        Unka ignorance mujhse ignore nhi hota, balki चुभता है।

      2. Khud ko asa bnaao ke koi aap ko ignore hi naa kar paaye or ye sab aap khud hi kar sakte ho bus kuch bhi karne se pahle khud pr bhrosa rakho

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s