जिंदगी की कितनी अजीब बात है,,,,,

*कितनी अजीब बात है ना कुछ लोगो से हमे जिन बातो की उमीद नही होती हैं अक्सर वो लोग बहुत ही आसानी से हमारा दिल तोड़ देते है,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*जिन्हे अपनी जान समझते थे जिनसे अपने दिल का हर हाल बया करते थे आज उनसे बात करते हुए भी दिल डर जाता है,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*जिनके बिना दिल कभी लगता था ही नहीं आज उनसे बात किए हुए पता ही नही कितने दिन हो गए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

*इस छोटे से नादान दिल मे बहुत कुछ है उसको बताने के लिए,,,,,,,,,,,,,,,,,

*बताये भी तो कैसे उसे क्युकी हमे उसे बात करने के लिए पहले उससे पूछना पड़ता है की हमारे लिए थोड़ा सा वक्त है भी या नही उसकी जिंदगी मै,,,,,,,,,,,,,

*तब कही जाकर पाँच मिनट उसे बात होती हैं,,,,,,,,,,,,,

*लोग अक्सर कितना बदल जाते है बिल्कुल हमारी उमीद के खिलाफ,,,,,,,,,,,,,

8 thoughts on “जिंदगी की कितनी अजीब बात है,,,,,

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s